Followers

Thursday, August 16, 2012

ये खुदा .....



ये खुदा तू बता,
मेरी परेशानियों का सबब क्या है ?
मुझे तेरी रहमत,
हासिल ना हुई वजह क्या है ?
मेरी इबादत हुआ बेअसर,
बता तेरी रज़ा क्या है ?
गर मैं हूँ तेरा गुनाहगार,
तू ही बता मेरी सजा क्या है ?

मुकेश गिरि गोस्वामी : हृदयगाथा मन की बातें

4 comments:

  1. बहुत अच्छी प्रस्तुति!
    इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (18-08-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
  2. बहुत प्यारी रचना...
    ऐसे प्रश्न सभी के मन में उठते हैं अकसर...

    अनु

    ReplyDelete
  3. बहुत प्यारी रचना..

    ReplyDelete
  4. सुंदर !
    कभी कभी लगने लगता है ऎसा भी
    पता करता नहीं है तो खुदा करता क्या है?

    ReplyDelete

नई कवितायेँ ...

LatestPoetry:


Hindi